युवाओं का राष्ट्र के नव भविष्य सृजन के निमित्त व्यवहार, उद्देश्य है कि उज्ज्वल उत्कर्ष पर स्थापित हो अपना बिहार,आइए, मिलकर प्रेरित करें बिहार।


आईपीएस विकास वैभव हैं युवाओं के मार्ग दर्शक,बिहार का इतिहास गौरवशाली रहा है। प्रतिभा के क्षेत्र में भी बिहार की धरती उर्वरा रही है। गौरवशाली बिहार के इतिहास को पुनः प्राप्त करने में युवाओं की भूमिका अहम है। हमारे पूर्वजों के चिंतन की उत्कृष्टता ही थी, जिसने बिहार को ज्ञान की उस भूमि के रूप में स्थापित किया। वेदों ने भी वेदांत रूपी उत्कर्ष को प्राप्त किया। यहां कालांतर में ऐसे विश्वविद्यालयों स्थापित हुए, जिनमें अध्ययन हेतु संपूर्ण विश्व के विद्वान लालायित रहते थे। ऊर्जा आज भी वही है। हम यदि वांछित उन्नति नहीं कर पा रहे हैं तो आवश्यकता चिंतन की है।

हम नैसर्गिक ऊर्जा का प्रयोग कहां कर रहे हैं। आपस में संघर्ष नहीं अपितु सहयोग करने की जरूरत है। बिहार की भूमि प्राचीन काल से ही ज्ञान, शौर्य एवं उद्यमिता की प्रतीक रही है। हम सब उन्हीं यशस्वी पूर्वजों के वंशज हैं, जिनमें अखंड भारत के साम्राज्य को स्थापित करने की क्षमता थी। तब न आज की भांति विकसित मार्ग थे, न सूचना तंत्र और न उन्नत प्रौद्योगिकी। वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी और मानवतावादी चिंतक विकास वैभव हमेशा कहते हैं। कर्तव्य की डगर पर हमेशा निष्ठा और सेवा भाव के फूल बिखरने वाले आईपीएस अधिकारी विकास वैभव किसी परिचय के मोहताज नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here