बीसीसीएल परियोजना का विस्तार करना चाह रही है।लेकिन परियोजना के समीप रहने वाले लोग बिना उचित मुवाबजा सुरक्षित विस्थापन के हटने से इनकार कर रही है।

प्रभात कुमार पांडेय की रिपोर्ट

धनबाद झारखंड – बरोरा एरिया 1 अंतर्गत एएमपी परियोजना के मण्डल केंदुआडीह में एक दर्जन परिवार ब्लास्टिंग स्थल से महज 10 से 20 मीटर दूरी पर बीसीसीएल जमीन पर तीन पीढ़ियों से रह रहे है।बीसीसीएल इन परिवारों को परियोजना विस्तार को लेकर हटाना चाहती है।सभी परिवार को 20 हजार रुपये कम्पनी नियामानुसार देने को तैयार है।लेकिन ये परिवार हटने से साफ इंकार कर दिए है।इसे लेकर परियोजना पदाधिकारी के साथ बरोरा थाना परिसर में त्रिपक्षीय वार्ता हुई।बीसीसीएल कम्पनी अनुसार 20 हजार रुपये देने की बात कही।साथ ही बीसीसीएल के बेकार पड़े क्वाटर देने की बात कही।लेकिन लोगो ने इससे इनकार कर दिया है। मण्डल केंदुआडीह के लोगो ने कहा कि तीन पीढ़ियों से वह रह रहे है।महज 10 से 20 मीटर में बीसीसीएल ब्लास्टिंग करती है।

ब्लास्टिंग के पत्थर घरो में आ जा रहे है।कई बार चोटिल भी हुए है।बीसीसीएल उन लोगो को उचित मुवाबजा और बेहतर स्थान पर रहने की व्यवस्था कर दे।यही माँग उनलोगों की है।लेकिन बीसीसीएल केवल 20 हजार देने को तैयार है।उसके बाद जाने को कह रही है।जब तक उचित मुवाबजा और रहने का बेहतर स्थान नही दिया जाता तब तक जमीन नही खाली करेंगे।20 हजार रुपये में घर नही बन सकता है।वही परियोजना पदाधिकारी काजल सरकार ने कहा मण्डल केंदुआडीह बीसीसीएल की जमीन में 1 दर्जन परिवार रह रहे है।इन सभी को बीसीसीएल के विस्थापन नियम अनुसार 20 हजार रुपये दिया जा रहा है।लेकिन ये सभी हटने को तैयार नही है।फिलहाल बात की जा रही है।परियोजना विस्तार के लिये सभी को हटाना जरूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here